दी सेंटर फॉर कोरियाई स्टडीज(सीकेएस) जेएनयू में भाषा,साहित्य और सांस्कृतिक अध्ययन के विद्यालय का एक इकाई है। यह केंद्र कोरियाई भाषा,साहित्य और सांस्कृतिक अध्ययन के ये भारतीय उपमहाद्वीप का सबसे बड़ा अकादमिक केंद्र है। यह कोरियाई भाषा,साहित्य और सांस्कृतिक अध्ययन में बी.ए., एम.ए.,एम.फिल और पीएच.डी प्रोग्राम प्रदान करता है। कोरियाई भाषा केंद्र में पहले १९७६ में प्री-डिग्री डिप्लोमा पाठ्यक्रम के रूप में शुरू हुआ था। यह १९९५ में पूर्णकालिक बी.ए.(ऑनर) प्रोग्राम और १९९८ में एम. ए. में उन्नत हुआ। केंद्र का नाम २००५ में ‘सेंटर फॉर जापानीज एंड उत्तरी पूर्वी एशियाई शिक्षा(सीजेएनईएएस)’ से बदलकर ‘सेंटर फॉर जापानीज,कोरियाई एंड उत्तरी पूर्वी एशियाई शिक्षा(सीजेकेएनईएएस)’ कर दिया गया। केंद्र ने अपना एम.फिल/पीएच. डी प्रोग्राम को २०१३ में शुरू किया। अगस्त २०१३, में यह एक स्वतंत्र केंद्र ‘सेंटर फॉर कोरियाई शिक्षा(सीकेएस)’ बन गया। पिछले कुछ वर्षों में यह बढ़कर जेएनयू के एसएलएल और सीएस का सबसे बड़ा केंद्र बन गया है। केंद्र मंगोलियन भाषा में अंशकालिक प्रमाणपत्र और डिप्लोमे
पाठ्यक्रम भी पेश करता है।